February 4, 2023
Online Taza Khabar
अमेरिकी डॉलर (US $) की तुलना में लगातार कम होता भारतीय रुपया
अंतरराष्ट्रीयवित्तव्यापार

अमेरिकी डॉलर (US $) की तुलना में लगातार कम होता भारतीय रुपया

अमेरिकी डॉलर (US $) की तुलना में लगातार कम होता भारतीय रुपया 

अमेरिकी डॉलर एक ग्लोबल करेंसी है, अगर कोई भी देश किसी दूसरे देश के साथ में बिजनेस करना चाहता है तो, इसके लिए उसके पास डॉलर होना जरूरी है नहीं तो वह किसी भी दूसरे देश के साथ बिजनेस नहीं कर पाएगा l

यही कारण है कि दुनिया में डॉलर की मांग लगातार बनी रहती है l डॉलर आईएमएफ की बास्केट ऑफ करेंसी में शामिल 5 देशों की करेंसी में से एक है l

आजकल डॉलर बहुत ज्यादा चर्चा में बना हुआ है l अमेरिकी डॉलर के चर्चा में बने रहने का सबसे बड़ा कारण यह है कि यह दुनिया भर  के सभी देशों की करेंसी के मुकाबले बढ़ता जा रहा है l

भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले बहुत निचे आ गया है और अब तक की सबसे खराब कंडीशन में दिखाई दे रहा है l आजकल 81 भारतीय रुपए में $1 मिलता है l

डॉलर की वैल्यू के लगातार बढ़ने का क्या कारण है ? यह क्यों हो रहा है ,और इसका भारत पर एवं भारत की अर्थव्यवस्था पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

इसकी पूरी जानकारी हम आपको हमारे इस लेख के माध्यम से देने वाले हैं l पूरी जानकारी लेने के लिए  हमारे इस लेख में अंत तक बने रहिएगा.

डॉलर के बढ़ने और भारतीय रुपए के कमजोर होने के कारण

अब तक के भारत के इतिहास में यह पहली बार है कि भारतीय 81 में केवल अमेरिकी डॉलर $1 प्राप्त हो रहा है  l इसके कारण इस प्रकार है –

फेडरल रिजर्व के द्वारा ब्याज की दर बढ़ा देना –

अमेरिका का सेंट्रल बैंक जिसका नाम फेडरल रिजर्व बैंक है. उसने इस साल में लगभग 3 बार अपनी ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर दी है।

जिस कारण अमेरिका के इन्वेस्टर्स जिन्होंने भारत में ऊंची ब्याज दर देखकर भारत में निवेश किया था। अपने देश में ब्याज दर बढ़ने के कारण भारत से पैसा निकाल कर अमेरिका में जा रहे हैं जिसके कारण भारत में डॉलर की कमी होती जा रही है l

अब यह तो आप जानते ही हैं कि जिस चीज की कमी होती है उस चीज के रेट अपने आप बढ़ जाते हैं l ऐसा ही कुछ डॉलर के साथ भी हो रहा है l

जैसे ही इन्वेस्टर्स ने अपना पैसा निकालना शुरू किया भारतीय रुपया फिसलने लगा और डॉलर की कीमत बढ़ने लगी l

मंदी की आशंका-

आजकल पूरी दुनिया में मंदी की आशंका फैली हुई है l जैसा कि आप सब जानते ही हैं कि कुछ ही समय पहले पूरी दुनिया में एक भयंकर Pandemic कोरोना वायरस को देखा है l

अमेरिकी डॉलर (US $) की तुलना में लगातार कम होता भारतीय रुपया

कोविड-19  से अभी भी पूरी दुनिया सही से उभर नहीं पाई है l दुनिया में अभी भी मंदी आने की आशंका है। एक यह भी कारण है जिसके कारण इन्वेस्टर्स दूसरे देशों में इन्वेस्ट करने से हिचक रहे हैं।

जिसके कारण भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया के देशों में अमेरिकी डॉलर का प्रवाह उतना नहीं हो पा रहा है l  इस कारण से डॉलर की कीमत में वृद्धि हो रही है और विश्व की बहुत सारी अर्थव्यवस्थाओं की मुद्रा में फिसलन आ रही है l

भारतीय रुपए के मुकाबले डॉलर की कीमत बढ़ने के क्या क्या नुकसान होंगे –

वर्तमान में अमेरिकी डॉलर जिस गति से बढ़ रहा है उसे देखते हुए लग रहा है कि इसका बढ़ना अभी रुकेगा नहीं l अमेरिकी डॉलर की कीमत भारतीय रुपए के मुकाबले में बढ़ने के कारण भारत एवं भारत वासियों को क्या-क्या नुकसान होगा वह इस प्रकार है –

  • भारतीय रुपए की तुलना में अमेरिकी डॉलर की कीमत में वृद्धि हो जाने से अमेरिका में रहना घूमना भारतीयों के लिए महंगा हो जाएगा l
  • डॉलर की कीमत में वृद्धि होने के कारण जो बहुत सारे स्टूडेंट अमेरिका में जाकर पढ़ते हैं उन्हें भी आर्थिक दबाव देखना पड़ेगा और उनको ज्यादा खर्च करना पड़ेगा l
  • हम आपको Example के साथ समझाते हैं जब भारतीय ₹50 बराबर $1 होता था। तब भारतीय लोग जो अमेरिका में घूमने या पढ़ने के लिए जाते थे ₹50 में $1 प्राप्त कर सकते थे। लेकिन अब उन्हें $1 लेने के लिए ₹81 खर्च करने पड़ेंगे l इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि भारतीय लोग जो अमेरिका जाना चाहते हैं चाहे वह घूमने के लिए या पढ़ने के लिए हो उन्हें ज्यादा खर्च करना पड़ेगा l
  • जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि भारत अभी भी बहुत सारी चीजों को विदेशों से आयात करता है। जैसे कि पेट्रोल और डिफेंस रिलेटेड उपकरण, आयात करने में डॉलर की जरूरत होती है , डॉलर के लगातार बढ़ने से भारत को आयात भी महंगा पड़ेगा।  जिसका सीधा सीधा असर भारत की अर्थव्यवस्था पर भी देखने को मिलेगा l

डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपए को कैसे मजबूत किया जा सकता है ?

वर्तमान में बाजार व्यवस्था है और किसी देश की मुद्रा यानी की करेंसी कितनी कमजोर या मजबूत होगी  इसका निर्धारण बाजार करता है l

लेकिन फिर भी सभी देश अपनी देश की करेंसी को Stable रखने के लिए बहुत सारे उपाय करते हैं लेकिन भारतीय रुपया लगातार डॉलर के मुकाबले नीचे फिसलता जा रहा है । तो ऐसे में क्या किया जा सकता है कि भारतीय रुपया स्टेबल बना रहे? इसके लिए नीचे कुछ solution दिए गए हैं।

आरबीआई फॉरेन रिजर्व में से डॉलर को जारी कर सकती है-

आरबीआई अपने पास फॉरेन रिजर्व के रूप में अमेरिकी डॉलर को रखती है l वर्तमान में भारतीय रुपए की गिरती हुई कंडीशन को देखकर आरबीआई फॉरेक्स में से डॉलर को रिलीज करके भारतीय रुपए को स्टेबल कर सकती है ,

क्योंकि डॉलर के महंगे होने का कारण यही है कि बाजार में से डॉलर निकलता जा रहा है और यदि कोई चीज कम हो रही हो, तो उसकी आपूर्ति करके उसकी महंगाई को रोका जा सकता है l

लेकिन अगर फॉरेक्स में से ज्यादा डॉलर निकालेंगे तो फॉरेक्स भी कम हो जाएगा। जिससे कि भारतीय अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा और विदेशों से व्यापार करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा l

दूसरे देशों के साथ भारतीय करेंसी में व्यापार करने की कोशिश करनी चाहिए –

अमेरिकी डॉलर (US $) की तुलना में लगातार कम होता भारतीय रुपया

वैसे तो भारत लगातार ही  यह कोशिश करता रहता है कि वह दूसरे देशों के साथ में डॉलर की की जगह पर भारतीय करेंसी में व्यापार करे।

लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि अमेरिकी डॉलर एक ग्लोबल करंसी है और ज्यादातर देशों में डॉलर से ही व्यापार होता है। लेकिन फिर भी भारत ने अपनी मुद्रा में व्यापार करने की कोशिश की है और भारत को कई बार इसमें सफलता भी मिली है।

जैसे कि भारत रूस से भारतीय करंसी में व्यापार  किया है और वह ईरान से भी ऐसा कर चुका है । भारत को अभी भी कुछ ऐसे ही कदम उठाने होंगे, जिससे कि वह अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय करेंसी को स्टेबल कर सकेगा l

अमेरिकी डॉलर की तुलना में लगातार कम होता भारतीय रुपया

#onlinetazakhabar

 

THANKS, AND REGARDS

ONLINE TAZA KHABAR

Related posts

काबुल में तालिबान का टॉप कमांडर शेख रहीमुल्लाह हक्कानी आत्मघाती हमले में मारा गया

onlinetazakhabar

कैसा हो सकता है इस सप्ताह का शेयर मार्केट जानिए एक्सपर्ट राय

onlinetazakhabar

एलोन मस्क ने $54.20 एक शेयर ट्विटर डील के साथ आगे बढ़ने के लिए कहा

onlinetazakhabar

उत्तर कोरियाई हैकरों पर 100 मिलियन डॉलर की हार्मनी डकैती का संदेह

onlinetazakhabar

IPL 2022 Now 10 Teams Are Added Instead Of Eight In IPL

onlinetazakhabar

रूसी पत्रकार, जिसने यूक्रेन युद्ध का ऑन-एयर विरोध किया, हाउस अरेस्ट से बच निकला

onlinetazakhabar

Leave a Comment